बदमाशों के गिरफ्तारी के लिए पुलिस को दिया 72 घंटे का समय

देवरिया/तरकुलवा।।  मुनीम सुभाष मद्धेशिया की हत्या के विरोध में मंगलवार को तरकुलवा में बाजार बंद रही। व्यापारियों ने जिला प्रशासन को 72 घंटे का अल्टीमेटम दिया है। समयावधि में घटना का पर्दाफाश नहीं होने पर बड़े आंदोलन की चेतावनी दी गई है

तरकुलवा में मंगलवार और गुरुवार को साप्ताहिक बाजार लगती है। सुभाष मद्धेशिया की गोली मारकर हत्या की खबर मिलने ही व्यापारी आंदोलित हो गए। मंगलवार को दुकानें बंद रखीं। व्यापारियों ने कहा कि 72 घंटे के भीतर पुलिस इस घटना का पर्दाफाश नहीं करती है तो उग्र आंदोलन किया जाएगा। इसकी जिम्मेदारी पुलिस की ही होगी। व्यापारी शिवशंकर यादव, नरेंद्र पाठक, रमेश यादव, श्रीकिशुन गुप्त, मुकेश गुप्त, अशोक यादव, दिलीप वर्मा, विनोद मद्धेशिया, प्रदीप अग्रवाल, रमाशंकर, अवधेश मद्धेशिया, धनंजय मद्धेशिया समेत तमाम व्यापारियों ने सुरक्षा की मांग की। उनका कहना था कि आएदिन इस तरह की घटनाएं हो रही हैं। इसके बाद भी पुलिस प्रशासन के लोग लापरवाह बने हुए हैं। सपा के जिला उपाध्यक्ष अशोक मद्धेशिया ने कहा कि कानून व्यवस्था दम तोड़ चुकी है, मुनीम की हत्या इसका प्रमाण है। बदमाशों की गिरफ्तारी नहीं हुई सपा आंदोलन करेगी। वहीं, मंगलवार की देर शाम सदर कोतवाल अरुण मौर्य ने महुअवा बजराटार पहुंचकर परिवारवालों से जानकारी ली। बुधवार की दोपहर सीआईयू टीम भी पहुंची थी। परिवार और पड़ोस के लोगों से जानकारी ली

---------------------– --------------------------------सीसीटीवी कैमरे में कैद नहीं हो पाए बदमाश

देवरिया। मुनीम की गोली मारकर हत्या और लूट के बाद सक्रिय हुई पुलिस बदमाशों की तलाश में जुट गई है। पुलिस ने आसपास के प्रतिष्ठानों में लगे सीसीटीवी कैमरे का रिकॉर्ड खंगाला, लेकिन कुछ स्पष्ट नहीं हो पा रहा है। सदर कोतवाल अरुण मौर्य ने बताया कि सीसीटीवी कैमरे में बाइक से जाते हुए दो लोग दिख रहे हैं, लेकिन अंधेरा होने की वजह से उनका चेहरा साफ नहीं है। बदमाशों की तलाश में पुलिस टीम लगी हुई है

पूर्व की घटनाओं में शामिल बदमाशों से पुलिस ने की पूछताछ

देवरिया। जिले में पूर्व में हुए लूटकांड के तमाम आरोपी जमानत पर जेल से बाहर हैं। मंगलवार की रात में पुलिस ने इन लोगों को पूछताछ के लिए उठाया था। काफी देर तक पूछताछ के बाद भी पुलिस को कोई खास जानकारी नहीं मिल पाई। इसके बाद सभी को हिदायत के साथ छोड़ा गया कि वे कहीं बाहर नहीं जाएंगे। पुलिस को अनुमान है कि हत्या कर लूट की इस घटना को बिहार के बदमाशों ने अंजाम दिया है। इस बिंदु को ही केंद्र में रखकर पुलिस बदमाशों की तलाश में जुटी है।

-----------------------------------------------–-------पुलिस की सक्रियता की खुली पोल

देवरिया। दशहरा में चप्पे-चप्पे पर पुलिस की ड्यूटी लगाई गई थी। इसके बाद भी बदमाशों ने मुनीम को गोली मारकर रुपये लूट लिए। ताज्जुब की बात तो यह है कि वे आसानी से फरार भी हो गए। सवाल यह है कि आखिर पुलिस इतना निष्क्रिय क्यों थी। देखना होगा कि चुनौती बने लुटेरों को पुलिस कब गिरफ्तार कर पाती है 


50 लाख रुपये और आवास की मांग

तरकुलवा। मृतक सुभाष मद्धेशिया की पांच संतानें हैं। मौत की खबर सुनकर परिवार में कोहराम मच गया। पिता की मौत की खबर पर विदेश में रह रहा छोटा बेटा दीपू बुधवार को घर लौट आया। सुभाष मद्धेशिया के दो बेटे चंदन, दीपू और तीन बेटियां नर्वदा, रागिनी, सलोनी हैं। दो बेटियों की वह शादी कर चुके थे। घर की माली हालत ठीक करने के लिए छोटा बेटा दीपू छह माह पूर्व विदेश गया। चार दिन पहले बड़ा बेटा चंदन भी विदेश गया। पिता की मौत की खबर पर छोटा बेटा दीपू बुधवार को लौट आया। पत्नी निर्मला देवी, बेटे और बेटियों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया। परिवारवालों ने 50 लाख रुपये और एक आवास की मांग की है

व्यापारियों ने की हत्यारों की गिरफ्तारी की मांग

देवरिया। प्रतिनिधि उद्योग व्यापार मंडल की बैठक बुधवार को कैंप कार्यालय पर हुई। इसमें गल्ला व्यापारी सुभाष चंद्र मद्धेशिया के हत्यारों के गिरफ्तारी की मांग की गई। जिलाध्यक्ष वासुदेव वर्मा ने कहा कि पुलिस की निष्क्रियता के चलते जिले के व्यापारी सुरक्षित नहीं हैं। आएदिन बदमाश व्यापारियों की हत्या व लूट जैसी वारदात को अंजाम दे रहे हैं। पुलिसिया कार्रवाई में सुस्ती के चलते अपराधियों का मनोबल बढ़ता जा रहा है। उन्होंने मृतक के परिजनों को 50 लाख रुपये सहयोग राशि देने की मांग की।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट