हर संभव मदद के लिए हूं तैयार - गौरव सिंह राठौड़

जमुई से संवाददाता देवेन्द्र कुमार की रिपोर्ट

 झाझा ।। झाझा नगर अंतर्गत वार्ड नंबर पंद्रह के रिक्सा चालक बिनोद साव के मकान मे लगे मुख्य द्वार पर लोहे का गेट मे अचानक करंट दौड गई थी । जिसमे उनकी पत्नी सविता देवी और उनकी छोटी पुत्री सोनाली कुमारी बुरी तरह घायल हो गई एवं इलाज के क्रम मे दोनो की मौत हो गई थी । बीते तीन दिन बाद भी अभी तक कोई सरकारी मुआवजा एवं कोई भी जनप्रतिनिधि उनके घर तक पहुंचना मुनासिब नही समझा जबकि इस बड़े घटना को लेकर स्थानीय सामाजिक कार्यकर्ता सह नव यूवक संघ संयोजक गौरव सिंह राठौड़ लगातार परिजन के बने हुए है एवं सरकारी तंत्र पर उदासीन है । वही गौरव सिंह राठौड़ ने कहा कि अगर समाज के लोग अपना सहयोग का हाथ नही बढाते तो शायद दोनो मृत हुए लोग को दाह-संस्कार करना भी मुश्किल पडता। आखिर सरकार के नुमाइंदगी कर अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि क्यो उदासीन बने हुए है । उन्होंन कहा है कि जल्द ही सरकार अपने स्तर से इनको उचित मुआवजा प्रेषित किया जाए ताकि इन्हे इस भयमयी आपदा से थोड़ा-बहुत उबर मिल सके ,साथ ही सरकारी अस्पताल के लचर व्यवस्था पर ठोस पहल करे वरना आन्दोलन का चेहरा देखने के लिए तैयार रहे। परिजन के सभी सदस्य स्थानीय विधायक और सांसद के सुस्त रवैये पर अपना खेद प्रकट करते हुए कहा कि अभी तक कोई भी हमारी खबर नही लेने आए है ऐसे मे हमलोग बहुत निराश होकर ईश्वर के भरोसे चल रहे है।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट