आयआयएफएल होम लोन घर आप का लोन हमारा, बोईसर में प्रधानमंत्री आवास योजना की सब्सिडी वापसी से बढा रोष

पालघर ।। मोदी सरकार की लाभान्वित योजनाओं में सभी को 2022 तक घर का सपना सकार करने की बड़ी मुहिम औद्योगिक शहर बोईसर वासियों के लिए साकार होता नजर नही आ रहा है। सरकार के फैसले के मुताबिक प्रधानमंत्री आवास योयना के तहद घर लेने पर पहली बार मिलने वाली 2.50लाख से उपर की सब्सिडी को बोईसर क्षेत्र को ग्रामीण भूभाग बताकर   सरकारी फंड में वापसी का चक्र चलाते आयआएएफएल नामक होम लोन देने वाली बैंकिंग कंपनी ने हजारों उपभोक्ताओं को दरबदर भटकने को मजबूर कर दिया है।

बतादें कि प्रधानमंत्री आवास योजना की छूट केवल शहरी ईलाकों के लिए है। औद्योगिक शहर बोईसर भारत का सबसे बड़ा औद्योगिक क्षेत्र, तारापुर एटामिक पावर स्टेशन, बुलेट ट्रेन परियोजना से जुड़ा है।कई लाख लोगों के रोजी रोजगार का बड़ा हब है। यहां देश के कोने-कोने के लोग रोजगार, नौकरियां एवं उद्योग लगाकर जीविकोपार्जन करते है।प्रदेश सरकार को सर्वाधिक टैक्स अदायगी वाले क्षेत्र देहात शहर के चक्कर में घर का सपना संजोए लोगों के अचानक से आवास योयना की सब्सिडी वापसी ईएमआई में बढोत्तरी, कर्जे का टर्म अत्यधिक बढाने के साथ ही ईएमआई नही भरने पर धमकी दे रहे होम लोन कंपनी की कारगुजारियों को लेकर उपभोक्ताओं में काफी रोष नजर आ रहा है।

●परेशान उपभोक्ताओं का हाल बेहाल ,होम लोन वालो की दादागिरी●

उपभोक्ताओं का कहना है कि सब्सिडी वापसी के बाद समय से किस्तों को नही भरने पर दादागिरी की जा रही है। आलम यह है कि होम लोन के कर्जदार वैसे ही सरकार के निर्णय से खफा है। यद्यपि बोईसर को देहात  बताकर उनके सपनों का मजाक बनाया गया है।

    ◆क्या कहते है होम लोन उपभोक्ता आँखों देखी कानों सुनी●

शुक्रवार सुबह उपभोक्ताओं द्वारा पुनः होम लोन कार्यालय पर इकट्ठा होकर कार्यवाही के मांग के साथ सब्सिडी एवं छूट नही मिलने तक ईएमआई नहीं भरने की सर्वसम्मति से फैसला लिया गया।उपभोक्ताओं में प्रविण मांजरेकर,संकेत चौगुले,राजेश पवार, अवधेश कुमार गणेश झा,साक्षी जाधव,उषा सिंह, हेमल देव,सुर्वणा धानाजी वाघमारे ने आयआयएफएल होम लोन द्वारा की जा रही ज्यादती पर प्रकाश डाला।बोईसर में इस बैंक के1800 उपभोक्ताओं में कुछेक को छोड़कर समूचे कर्जदार बदहवास बदहाल बन शासन से न्याय की भीख मांग रहे है।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट