गोपीगंज में नहीं थम रहा डेंगू से मौतों का सिलसिला, एक और किशोर की मौत

रिपोर्ट-राम मोहन अग्निहोत्री

गोपीगंज,भदोही ।। गोपीगंज नगर के बाद अब आसपास के इलाकों में भी डेंगू का कहर सामने आने लगा है लगातार डेंगू के मरीज सामने आ रहे हैं। गोपीगंज नगर में पिछले दिनों हुई सरकारी चिकित्सक की मौत सहित डेंगू से हुई अन्य मौतों के  में गुरुवार को काली देवी मोहाल निवासी सोनू के पुत्र 15 वर्षीय सौरभ की गुरुवार को मौत हो गई ।उसे बुखार की शिकायत होने पर बीते एक सप्ताह पूर्व गोपीगंज के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया था। जहां तबीयत ज्यादा बिगड़ने पर इलाहाबाद रेफर कर दिया गया ।लेकिन गुरुवार को उसने दम तोड़ दिया हालांकि चिकित्सा विभाग इन मौतों पर पर्दा डालने की कोशिश कर रहा है । चिकित्सा विभाग का दावा है कि इन मौतों का कारण डेंगू नहीं है । लेकिन इसकी वजह यह है कि चिकित्सा विभाग डेंगू की पुष्टि एलाइजा टेस्ट से मानता है। यह जांच पूरे क्षेत्र में सिर्फ जनपद के चिकित्सा विभाग में है । किसी भी निजी चिकित्सालय में एलाइजा जांच की सुविधा नहीं है । निजी चिकित्सालय डेंगू का कार्ड से टेस्ट करवाते हैं, लेकिन चिकित्सा विभाग इसे पुष्टि नहीं मानता । दूसरी ओर हालात यह है कि जिस प्रकार की सामान्य चिकित्सालय में स्थिति है उसे देख कर कोई भी सक्षम व्यक्ति अपने परिजन के बीमार होने पर उसे सरकारी चिकित्सालय में लेकर जाने से परहेज करता है,ज्ञात हो कि डेंगू बुखार का प्रकोप गोपीगंज नगर के अलावा आसपास की बस्तियों में तेजी से फैल रहा है ।इसके बावजूद चिकित्सा विभाग डेंगू के रोकथाम के लिए सजग नहीं है । जिस रफ्तार से डेंगू की गिरफ्त में लोग आ रहे हैं । और लोगों की जान का खतरा बना है। इसकी परवाह जिला प्रशासन को नहीं है।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट