विधायक विजय मिश्रा को फसाने की जा रही है कोशिश -आशीष सिंह



सुरियावा क्षेत्र के युवा बी•डी •सी• आशीष सिंह ने कहा है ज्ञानपुर के विधायक की लोक प्रियता से सब घबडा गये है जिस तरीके से पुरे पूर्वांचल मे विकास से लेकर हर तरिके से गरीबों का मदद करते है लेकिन सब झुठा  विधायक पर आरोप लगाया जा है  ज्ञानपुर सीट से विधायक विजय मिश्रा पर जज को धमकी देने के मामले में सुरियावां थाने में केस दर्ज कर लिया गया, लेकिन मामला दर्ज होने के साथ ही इस बात की भी चर्चा ए आम है कि न्याय के लिए अपने रिश्तेदार के गलत कार्य में साथ नहीं देकर एक आम आदमी की समस्या को आला अफसरों के समक्ष रख कर विधायक ने न्यायप्रियता की अलख जगायी है। जांच में दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा।

यह रहा घटनाक्रम

दर असल, आरोप यह है कि भूमि संबंधित एक मामले में विधायक विजय मिश्रा ने एक निमंत्रण समारोह में जज को भला बुरा कहा था। एसपी ने बताया कि धमकी का मामला दर्ज कर लिया गया है। विधायक विजय मिश्रा ने आरोप को बेबुनियाद बताया है तो वहीं दूसरी तरफ जज के पडोसी दीनानाथ तिवारी ने बिहार के जज से जान माल की सुरक्षा की गुहार लगाई है।

यह रही FIR की वजह, लेकिन…यह है सच

मामला भदोही जिले के सुरियावां थाना क्षेत्र के प्रतापसिंहपट्टी मतेथू का है। इस गांव के निवासी त्रिभुवन नाथ पाठक शिवहर बिहार में अपर सत्र न्यायाधीश हैं। आरोप है कि जज अपने पद का दुरूपयोग कर गांव की जमीन पर कब्जा कर रहे थे, जिसका विरोध पड़ोसी दीनानाथ तिवारी और उनके परिजनों ने जिले के अफसरों को पत्रक देकर किया। सुनवाई ना होने पर उन्होंने विधायक विजय मिश्रा को अवगत कराया। बताते चले कि जज त्रिभुवननाथ पाठक विजय मिश्रा के रिश्तेदार है। बावजूद इसके न्याय को वरीयता देते हुए विधायक ने डीएम और एसपी तक यह बात पहुंचायी। इस पर उक्त जमीन पर चल रहा मार्ग का निर्माण कार्य रूक गया। यह बात जज को नागवार गुजरी। हालांकि घर पर रह रहे जज के बड़े भाई विजय शंकर पाठक का कहना है कि एक निमंत्रण में विधायक ने जनता के बीच जज की नौकरी को लेकर कहा था, जिस पर ऐसा हो रहा है।

तो राजनीति नहीं दुनियां से हो जाऊंगा आऊट

विधायक विजय मिश्रा ने मीडिया से बातचीत में जज को अपना रिश्तेदार बताते हुए इस आरोप को बेबुनियाद बताया। कहा कि यह साबित हो जाए तो राजनीति क्या दुनियां से आऊट होने को तैयार हूं।

क्षेत्र पंचायत सदस्य आशीष सिंह व युवा समाजसेवी पवन शुक्ला व जगतम्बा शुक्ला प्रधान संघ अभोली  ने कहा है की  ,विजय मिश्रा  न्याय प्रिय हैं हमारे MLA , न्याय को दिया महत्व तभी चौथी बार विधायक

ग्रामीण दीनानाथ तिवारी का कहना है हमारे विधायक न्यायप्रिय है। इसका उदाहरण यह है कि उन्होने एक आम आदमी के लिए रिश्तेदार को नहीं न्याय को महत्व दिया। दीनानाथ ने जज से जान का खतरा खतरा बताते हुए जान माल की सुरक्षा की गुहार लगाई है।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट