कलराज मिश्र बने हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल

जौनपुर ।। पूर्व केंद्रीय मंत्री कलराज मिश्र को हिमांचल प्रदेश का राज्यपाल बनाए जाने की घोषणा से भाजपा कार्यकर्ताओं व समर्थकों में खुशी का माहौल है। इसको लेकर सोमवार को उनके मड़ियाहूं स्थित आवास पर मिठाई बांटी गई। वक्ताओं ने कहा कि कलराज मिश्र कार्यकर्ताओं के लिए आदर्श है।

उनके भतीजे व पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष ब्रम्हदेव मिस्त्र ने कहा कि श्री मिश्र को संगठन द्वारा जो भी दायित्व दिए गए, उसे उन्होंने पूरी निष्ठा के साथ निर्वहन किया। वे हर कार्यकर्ता के लिए एक आदर्श हैं। महामहिम राष्ट्रपति द्वारा उन्हें वर्तमान में राज्यपाल पद की जिम्मेदारी दिया जाना इस बात का प्रमाण है। मड़ियाहूं में उनके बड़े भाई श्री गणेश दत्त मिस्त्र उप जिला अधिकारी पद से अवकाश प्राप्त करने के बाद स्थायी रूप से यहीं बस गए। तब से कलराज मिश्र का मड़ियाहूं बराबर आना जाना लगा रहता है और स्थानीय लोगों से काफी जुड़ाव हो गया है। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक के रूप में कार्य प्रारंभ कर आपातकाल में जेल की यातनाओं को सहन किया। जनसंघ में कार्य करने के लिए संघ द्वारा उन्हें जनसंघ में भेजा गया। अपने राजनीतिक जीवन में चार बार राज्यसभा सांसद सहित कुल 5 बार सांसद तीन बार विधायक रहे।इस अवसर पर विजय सिंह, सुरेश चंद गुप्ता, डा.श्याम दत्त दुबे, अजय मिश्रा, डा.राजेश पांडेय, डा.राम सिंह, प्रदीप पाठक, बृजेश पांडेय, श्रवण उपाध्याय, डा.सुरेश पाठक, बनवारी सेठ आदि उपस्थित रहे।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट