जरा याद उन्हें भी कर लो...कारगिल विजय की शुक्रवार को मशाल पदयात्रा केसीएन क्लब के साथ

पालघर ।। भारत के वीर योद्धा देश के लिए मर मिटने, बलिदान के लिए प्राणप्रण सपूतों ने पड़ोसी राष्ट्र की बड़ी साजिशों को नेस्तनाबूद कर दुश्मनों को छक्के छुड़ाते आज से कुछ बीस वर्ष पूर्व कारगिल की सबसे बड़ी चोटी पर तिरंगा लहराते हुए विजय पताका फहराया था। गौरवशाली इतिहास की उन पलों में हमारे जवानों ने जान की परवाह किये बिना लड़ाई लड़ते हुए भारत का सिरमौर को झुकने नही दिया। 

औद्योगिक शहर बोईसर में वीर योद्धाओं की अदम्य साहस की विजय मशाल यात्रा

देश के सपूतों के अदम्य साहस,बलिदान एवं जज्बें को सलाम करती सेवा भावी संस्था केसीएन क्लब विगत वर्षों की तरह इस वर्ष भी उन वीर योद्धाओं के वीरगति की गाथा को नमन एवं याद करते हुए आगामी 26 जुलाई की कारगिल युद्ध की विजय दिवस के मौके पर देश के पूर्व सैनिकों की संस्था वेटरंस इंडिया के मार्गदर्शन में औद्योगिक शहर बोईसर में कारगिल पराक्रम जनजागृति मशाल पदयात्रा का बृहद आयोजन की अंतरिम तैयारियों को मूर्त रुप देने में लगी है।

पूर्व सैनिकों का नागरिक सम्मान के साथ अतिथियों का स्वागत करेगी केसीएन क्लब

मिल रही जानकारी के मुताबिक सेवाभावी संस्था केसीएन क्लब की पालघर ईकाई की ओर से आयोजित हो रही कारगिल विजय दिवस के उपलक्ष्य में पराक्रम जनजागृति मशाल पदयात्रा के बारे में हमारे संवाददाता से बातचीत करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष नंदन मिश्रा"त्यागी" ने बताया है कि 26 जुलाई को औद्योगिक शहर बोईसर प. नावापूर रोड के पास जिला परिषद के पाठशाला प्रांगण में सुबह साढे़ आठ बजे से पूर्व सैनिकों एवं सेना के अंगों के बड़े ओहदों के अधिकारियों के साथ स्कूली बच्चों की तैयार की गयी वीर गाथा की बिभिन्न झांकियों ,वीररस की राष्ट्रीय गानों से रोंगटे खड़े करते गान एवं बंदेमातरम की धुन से गुंजयमान होती बड़े तादाद में आम नागरिकों के साथ समूचे शहर की तकरीबन 3 किमी. की परिक्रमा पदयात्रा हाथ में अमर ज्योति मशाल लेकर चलते फौलादी लोगों की भारी भरकम कांरवा कार्यक्रम को ऊर्जावान बनायेगी। कार्यक्रम का समापन बोईसर नावापूर रोड स्थित ईच्छा पूर्ति श्रीराम मंदिर सभागार में पूर्व सैनिकों का नागरिक सम्मान एवं अतिथियों के स्वागतम के साथ दोपहर का स्वादानुसार प्रीति भोज के साथ संपन्न होगा.।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट