बाबा बड़े शिव की रुद्राक्ष श्रृंगार के पश्चात भस्म आरती उतारी गई

रिपोर्ट-राम मोहन अग्निहोत्री 

गोपीगंज,भदोही ।। सावन के दूसरे सोमवार को बाबा बड़े शिव मंदिर पर बाबा बड़े शिवजी का रुद्राक्ष की माला ओं संग गुलाब के फूल, बेलपत्र, जूही, चमेली, गेंदा के फूलों से उनकी अद्भुत स्वरूप का श्रृंगार किया गया था। श्रृंगार उपरांत बाबा के निखरे स्वरूप का दर्शन करने के लिए भक्तगण देर रात्रि तक जुटे रहे। जनपद के जिला अधिकारी राजेंद्र प्रसाद द्वारा सपत्नीक बाबा का दर्शन पूजन कर जिलाधिकारी ने बाबा बड़े शिव की भस्म से आरती उतारी। दूरदराज से आए सैकड़ों कांवरिया संग हजारों श्रद्धालुओं ने बाबा के दर पर हर हर महादेव का जयघोष लगाकर शीश नवाए। ओम जय शिव ओंकारा, ओम जय जगदीश हरे का स्तुति गान भक्तों ने किया। ढोल, मृदंग, नगाड़े की थाप शंखनाद की करतल ध्वनि के साथ पुजारी सुरेंद्र विश्वकर्मा ने बाबा बड़े शिव जी का एक सौ आठ दीपो से महाआरती उतारी। भस्मारती उपरांत बाबा के अलौकिक स्वरूप का दर्शन कर भक्तगण मंत्रमुग्ध हो उठे लगा जैसे महाकाल जीवंत रूप में साक्षात दर्शन दे रहे हैं। फलाहार का वितरण निर्मला देवी के सौजन्य से कराया गया। मंदिर पर सुरक्षा व्यवस्था के बाबत स्थानीय चौकी इंचार्ज सुशील तिवारी दल बल के साथ डटे रहें। इस मौके पर प्रमुख रूप से गगन गुप्ता, सूर्य प्रकाश पाठक, प्रकाश मोदनवाल, अश्वनी अग्रवाल, घनश्याम दास गुप्ता, प्रकाश जायसवाल सहित शिव परिवार की तमाम सदस्य मौजूद रहे।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट