कालीन उद्योग की समस्याओं से सांसद को अवगत कराएगी एकमा - हाजी शाहिद हुसैन

रिपोर्ट-हैदर संजरी 

भदोही ।। अखिल भारतीय कालीन निर्माता संघ एकमा के मानद सचिव हाजी शाहिद हुसैन ने बताया कि 3 अगस्त दिन के 11 बजे एकमा हाल में सांसद रमेश बिंद का भव्य स्वागत तत्पश्चात कालीन उद्योग के समस्याओं पर चर्चा होगा।मानद सचिव ने कहा कि स्वागत समारोह में सभी निर्यातकों की उपस्थित अनिवार्य है।मानद सचिव ने कहा कि विश्व विख्यात हस्तनिर्मित कलात्मक कालीन उद्योग मशीनमेड के दौर में पिछड़ता जा रहा है।ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से उद्योग को मदद की भरपूर अपेक्षा है।सांसद के माध्यम से सरकार से कालीन निर्यात पर 20 प्रतिशत प्रोत्साहन राशी की मांग व बुनकरो के आभाव सहित धौरहरा पुल निर्माण व भदोही में कूड़ा निस्तारण केंद्र की मांग होगी। मानद सचिव ने कहा कि आजादि के बाद भारत की अर्थव्यवस्था को सदैव मजबूती  सुदृढ़ आधार बनाने में भदोही कालीन उधोग 

अग्रणी भूमिका निभा रहा है।खास यह कि कालीन उद्योग 20 लाख बुनकर मजदूर को रोजी रोटी का माध्यम भी है।देखा जाय तो देश के उत्पादन का 80% कालीन जिसका मूल्य लगभग चार हजार करोड़ विदेशी मुद्रा होता है ,अकेले भदीही से निर्यात होताहैजिसमेंगोपीगंज,खमरिया,घोसिया, माधोसिंह महराजगंज,मिर्ज़ापुर आदि शामिल हैं।लेकिन विश्व पटल पर सस्ते व कम समय में अधिक निर्मित होने वाला मशीनमेड के आगे हस्तनिर्मित कालीन प्रतिष्पर्धा में पिछड़ रहा है।चूकी कालीन उद्योग से 20 लाख बुनकर मजदूर व अन्य जूडे है ऐसे में उद्योग यदि संकट में आया तो बुनकर भूखमरी के कगार पर पहुंच जायेगे।मानद सचिव ने कहा कि कालीन उद्योग में अन्य विभिन्न समस्याएं है जिस पर भी चर्चा किया जायेगा।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट