बुढ़वा मंगल के मेले में चकवा महावीर हनुमान जी के दर्शन को उमड़ी भारी भीड़

रिपोर्ट-राम मोहन अग्निहोत्री

ज्ञानपुर, भदोही ।। देवाधिदेव महादेव के अति प्रिय सावन माह के अंतिम मंगलवार (बुढ़वा मंगल)को जनपद में स्थित महावीर मंदिरों में पवनसुत हनुमान के दर्शन पूजन को भीड़ उमड़ पड़ी। ऐतिहासिक चकवा और नटवा महावीर मंदिरों पर पहुंचे हजारों श्रद्धालुओं ने पूजन अर्चन किया। जनपद के लोक पर्व के नाते स्थानीय अवकाश घोषित होने के चलते सभी सरकारी कार्यालय बंद रहे। इस कारण लोगों ने निश्चिंत होकर पर्व का आनंद लिया। श्रद्धालुओं की आस्था व मेलार्थियों के उत्साह में कोई कमी नहीं दिखी। हर जगह लोग डटे रहे , व मेले का आनंद उठाते रहे।प्राचीन एवं पौराणिक स्थल चकवा महावीर मंदिर पर दर्शन पूजन व मेले की तैयारी पूर्व से ही शुरू हो गई थी। मंगलवार को सुबह से ही श्रद्धालुओं के पहुंचने का सिलसिला जो शुरु हुआ तो् दोपहर होते-होते हजारों में पहुंच गया। मंदिर पर पहुंचे महिला-पुरुष श्रद्धालुओं ने हलवा पुरी के साथ तरह-तरह के प्रसाद चढ़ाकर दर्शन पूजन किया। इस मौके पर लगे मेले में लोगों ने जमकर खरीददारी भी की।. मेले को सकुशल संपन्न कराने की मुकम्मल व पर्याप्त व्यवस्था की गई थी।उंज प्रतिनिधि के अनुसार सावन मास के अंतिम मंगलवार बुढ़वा मंगल के मौके पर क्षेत्र के महावीर मंदिर पर श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ी। सूर्यभानपुर (मोन कुटिया) सहित अन्य मंदिरों पर पहुंचे हजारों श्रद्धालुओं ने पूजा-अर्चना कर सुख-समृद्धि की। इस दौरान मंदिरों पर विधिवत संगीत कार्यक्रमों के आयोजन किए गए।जंगीगंज प्रतिनिधि के अनुसार महावीर मंदिर जीटी रोड बिहरोजपुर जाने वाले मार्ग स्थित पवनसुत हनुमान जी के प्राचीन मंदिर में बड़ी संख्या में पहुंचे महिला-पुरुष श्रद्धालुओं ने पवनसुत का दर्शन-पूजन किया। साथ ही सुख समृद्धि की कामना की।उधर मेले में सजी घर-गृहस्थी के सामान की दुकानों पर लोगों की भीड़ लगी रही। लोगों ने जमकर खरीदारी की। 

गुड़हिया जलेबी ने रिझाया

चकवा महावीर मंदिर पर जहां हलवा-पुरी की धूम रही, तो गुड़हिया जलेबी ने भी लोगों को खूब रिझाया। बुढ़वा मंगल मेले के अवसर पर पवनसुत को हलवा पूरी चढ़ाने की मान्यता स्वरूप हनुमान मंदिरों पर बड़ी संख्या में महिलाएं हलवा-पूरी बनाती देखी गई। इसी तरह दुकानों पर बिक रहे गुड़हिया जलेबी का भी आनंद लेते लोग देखे गए। युवा बच्चे तरह-तरह के झूलों से लेकर मनोरंजन के साधनों का भी आनंद उठाते रहे।

चोर-उचक्को की रही चांदी

चकवा महावीर मेले में पुलिस प्रशासन की तमाम चौकसी के बाद भी चोर-उचक्कों की चांदी रही। उन्होंने लोगों के जेब पर हाथ साफ करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। मेले में आए कई लोगों के पर्स व झोले  उचक्कों ने उड़ा दिए। इसी तरह कई महिलाओं के बैग व सामान पर भी चोरों ने हाथ साफ कर दिया। 

सुरक्षा का रहा पुख्ता इंतजाम

मेले को शांतिपूर्ण व सकुशल संपन्न कराने के लिए सुरक्षा का पुख्ता व्यवस्था किया गया था। चकवा व नटवां महावीर मंदिरों पर भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात की गई थी। चकवा मुख्य मार्ग पर आवागमन रोक दिया गया था। पुलिस व प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी भी व्यवस्था को संचालित करने को लेकर लगे रहे।

नटवां महावीर मंदिर पर उमड़ी भीड़

औराई,भदोही क्षेत्र के नटवा महावीर मंदिर पर श्रावण मास के अंतिम मंगलवार को महावीर के दर्शन करने के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी रही। सुबह से ही दर्शन पूजन को लेकर चल रहा सिलसिला देर रात तक चलता रहा। हनुमान भक्त पूड़ी, चना,  हलवा का भोग लगाकर सुख समृद्धि की कामना की। बड़ी संख्या में पुजारी कमलेश महाराज व पप्पू महाराज भक्तों में लाइन लगाकर पूरे दिन दर्शन पूजन कराने में लगे रहे। कोतवाल प्रभारी भैया छविनाथ सिंह चकवा मेले में मय फोर्स सुरक्षा व्यवस्था में तैनात रहे।

 गट्टा गायब,अनरसे की जमकर हुई बिक्री

बुढ़वा मंगल के अवसर पर मेले में गुड़ गट्टा गायब दिखा। किसी भी दुकान पर गट्टा बिक्री होते नजर नहीं आया। वही चोटहिया जलेबी की जमकर बिक्री देखी गई। 

प्लास्टिक पॉलिथीन की भी जमकर हुआ उपयोग

प्रदेश सरकार द्वारा जहां प्लास्टिक के पॉलीथिन पर प्रतिबंध लगाया गया है, वहीं मेले में जिला प्रशासन के सामने प्लास्टिक के पॉलिथीन में दुकानदार सामान देते नजर आए। वैसे तो आए दिन नगर पंचायत व प्रशासन द्वारा पॉलिथीन की बिक्री पर अभियान चलाते हुए जहां पॉलिथीन की जब्ती कार्रवाई कर जुर्माना लगाया जाता है , वहीं मेले में प्लास्टिक देखने के बावजूद पुलिस प्रशासन अनदेखी करता रहा।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट