प्रसव के दौरान हुए बच्चे की मौत नर्सिंग होम संचालक पुलिस के गिरफ्त में

जौनपुर ।। मामला बदलापुर का है। कस्बे के एक नर्सिंग होम में प्रसव के दौरान मंगलवार को बच्चे की मौत से गुस्साए परिजनों ने हंगामा खड़ा कर दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने नर्सिंग होम संचालक को हिरासत में ले लिया। प्रसूता को हालत गंभीर होने के कारण जिला महिला अस्पताल ले जाकर भर्ती कराया गया है। पुलिस का कहना है कि तहरीर मिली है। छानबीन के बाद मुकदमा दर्ज कर कार्रवाई की जाएगी।

बदलापुर खुर्द निवासी संत लाल की तहरीर के मुताबिक उसकी बेटी सिपी गर्भवती थी। सोमवार को पेट में दर्द होने पर सायं चार बजे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया गया। डाक्टर ने अल्ट्रासाउंड कराया। रिपोर्ट में जच्चा- बच्चा दोनों स्वस्थ थे। खून की कमी के चलते रेफर किए जाने पर सिपी को जिला महिला चिकित्सालय रेफर कर दिया गया। उसे लेकर जाने की तैयारी की जा रही थी कि इसी बीच सुल्तानपुर रोड के पुरानी बाजार स्थित सोनिक पाली क्लीनिक का एक कर्मचारी मिला। उसने कहा कि मेरे यहां ले चलो वहां नार्मल डिलीवरी करा दूंगा। उसकी बात में आकर उक्त अस्पताल में पुत्री को भर्ती करा दिया। संतलाल ने आरोप लगाया है कि प्रसव के दौरान चार-पांच लोग जबरन पेट दबाने लगे। जिससे बच्चे की मौत हो गई।बच्चे की मौत के बाद आक्रोशित परिजनों ने नर्सिंग होम में हंगामा खड़ा कर दिया। खबर लगते ही यूपी-100 टीम और थानाध्यक्ष निरीक्षक राजेश यादव सहयोगियों के साथ मौके पर पहुंच गए और नर्सिंग होम संचालक को हिरासत में ले लिया। उधर, रक्तस्त्राव से जच्चा की हालत बिगड़ने लगी तो उसे जान बचाने के लिए आनन-फानन जिला महिला अस्पताल ले जाकर भर्ती कराया गया। प्रभारी निरीक्षक ने बताया है कि तहरीर के मुताबिक कार्रवाई की जाएगी। यह मामला थाने तक पहुंचने पर झोलाछाप डाक्टरों व अवैध नर्सिंग होम संचालकों में खलबली मच गई है

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट