सुलतानपुर★न्याय पाने के लिए दर-दर ठोकर खा रहे हैं फरियादी

अश्विनी कुमार उपाध्याय संवाददाता सुल्तानपुर

सुलतानपुर ।। औपचारिक दिवस के रूप में समाधान दिवस तब्दील होते जा रहे हैं। कहीं फरियादी कम पहुंच रहे हैं तो कहीं आए प्रार्थना पत्रों का निस्तारण नहीं हो पा रहा है। दो-दो माह से न्याय पाने की आस में पीड़ित भटक रहे हैं। शनिवार को थाना समाधान दिवस में भी फरियादियों की संख्या बेहद कम नजर आई।

नरवारी के सत्यनारायण पांडेय अपने खपड़ैल के घर की मरम्मत कराने और छप्पर रखवाने के लिए एसडीएम को प्रार्थना पत्र दो माह पहले दिया था। जिस पर उप जिलाधिकारी कादीपुर जयकरन ने राजस्व कर्मियों की रिपोर्ट के आधार पर पांडेय को घर की मरम्मत कराने की अनुमति दे दी थी, लेकिन पड़ोसी इसमें अड़ंगा लगा रहे हैं। तब से वह लगातार अफसरों का चक्कर लगा रहे हैं। वहीं वनगवां डीह के शिवबहादुर का कब्जा भी राजस्व कर्मियों ने अवैध ठहराकर एसडीएम के आदेश का हवाला दे हटवा दिया। जब इसकी जानकारी उप जिलाधिकारी को दी तो उन्होंने मामले की जांच के लिए टीम गठित कर दी और तीन दिन में रिपोर्ट मांगी। लम्भुआ संसू के अनुसार, स्थानीय कोतवाली में एसपी हिमांशु कुमार पहुंचे, लेकिन ज्यादातर मामले राजस्व विभाग से संबंधित होने के कारण कोई निर्णय नहीं हो सका। उन्होंने अधिकारियों को तालमेल बनाकर गुणवत्ता निस्तारण का निर्देश दिए। चांदा संसू के अनुसार, थाना क्षेत्र के छतौना खुर्द निवासी कमलेश सिंह द्वारा चक मार्ग के कब्जे मामले में एसपी लेखपाल की रिपोर्ट पर मुकदमा दर्ज कराया। कुल 14 में से पांच शिकायतों का निस्तारण हुआ।धम्मौर में समाधान दिवस में कुल 11 मामले आए। जिसमें तीन मामलों का मौके पर निस्तारण किया गया। थानाध्यक्ष अमरेंद्र बहादुर सिंह समेत अन्य राजस्वकर्मी मौजूद रहे। करौदीकला संसू के अनुसार, नायब तहसीलदार कादीपुर विनोदकुमार गुप्ता व थाना प्रभारी रविकान्त ,राजस्व निरीक्षक पी.पी.पांडे की मौजूदगी मे पांच प्रार्थना पत्र आए जिसमें से एक का निस्तारण मौके पर किया गया। कूरेभार संसू के अनुसार, एस पी सिटी मीनाक्षी कात्यायन ने फरियादियों की समस्याओं को सुना। कुल सात शिकायतें आईं जिसमें से एक का निस्तारण मौके पर किया गया। तहसीलदार शैलेन्द्र चौधरी, सीओ बल्दीराय लालचंद्र, थानाध्यक्ष प्रवीण कुमार सिंह आदि मौजूद रहे।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट