20 जुलाई तक नगर निकायों के साथ सभी प्रखंडों के दो-दो पंचायतों के सभी लाभार्थी को वैक्सीन देने का लक्ष्य निर्धारित

- 18+ के सभी लोगों को टीकाकृत करने के लिये जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य समिति के अधिकारियों के साथ बनाया मास्टर प्लान

- वैक्सीन की उपलब्धता के आधार पर ग्रामीण इलाकों में भी बढ़ाये जायेंगे सत्र स्थल

बक्सर, 06 जुलाई ।। कोरोना वायरस की संभावित तीसरी लहर को देखते हुये राज्य सरकार जल्द से जल्द सभी लोगों को टीकाकृत करने की तैयारी में लगी हुई है। इस क्रम में जिला समेत पूरे राज्य में मेगा वैक्सीनेशन अभियान चलाये जा रहे हैं। जिसे लोगों की सुविधा को देखते हुये और भी सरल बनाया जा रहा है। ताकि, लोगों को वैक्सीन लेने में किसी प्रकार की कोई परेशानी का सामना न करना पड़े। राज्य स्वास्थ्य मंत्री सह जिला प्रभारी मंत्री ने जिलाधिकारी समेत स्वास्थ्य समिति के अधिकारियों को छह माह में छह करोड़ लोगों को वैक्सीनेट करने के लक्ष्य के तहत बक्सर जिले को प्राप्त लक्ष्य के आधार पर सत्र संचालन की तैयारी करने का निर्देश दिया है। जिसके बाद जिलाधिकारी अमन समीर ने स्वास्थ्य समिति व अन्य सहयोगी विभागों के अधिकारियों के साथ मिलकर मेगा वैक्सीनेशन कैंपेन के लिये मास्टर प्लान बनाया है। जिसमें आगामी 20 जुलाई तक निर्धारित उम्र के सभी लाभार्थियों को टीकाकृत करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। जिससे कम समय में अधिक लक्षित समूह के लोगों को वैक्सीनेट किया जा सके।

प्रत्येक प्रखंड के दो-दो पंचायतों का किया गया चयन :

जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. राज किशोर सिंह ने बताया, बीते दिनों जिला प्रशासन व अन्य सभी विभागों की बैठक में जिलाधिकारी अमन समीर ने वैक्सीनेशन अभियान को लेकर कई महत्वपूर्ण निणर्य लिया है। जिसमें सभी नगर निकाय क्षेत्र, शहरी इलाकों के साथ-साथ सभी प्रखंडों के दो-दो पंचायतों के 18 वर्ष व उससे अधिक उम्र के सभी लोगों को वैक्सीनेट करने का निर्णय लिया गया है। इस क्रम में सभी प्रखंडों के दो-दो पंचायतों का चयन किया जा चुका है। जहां पर मेगा वैक्सीनेशन प्लान के तहत सभी लोगों को वैक्सीन दी जायेगी । उन्होंने बताया, इस दौरान लाभार्थियों को वैक्सीन की पहली डोज के साथ-साथ दूसरी डोज की अवधि पूर्ण करने वाले लाभुकों के लिये भी सत्रों का संचालन किया जायेगा।

शहरी इलाकों में लोगों के आवागमन से संक्रमण प्रसार की रहती है प्रबल संभावना :

डॉ. राज किशोर सिंह ने बताया, शहरी इलाकों के लोगों को पहले वैक्सीन देने का निर्णय सराहनीय है। इससे कोरोना के संभावित संक्रमण का प्रसार कम होगा। क्योंकि, शाहरी इलाकों में लोगों का आवागमन अधिक होता है। जिससे संक्रमण की संभावना भी अधिक होती है। इसका उदाहरण कोरोना के दोनों स्ट्रेन में देखने को मिला। जिसके कारण शहरी इलाकों में मेगा वैक्सेनशन कैंपन के तहत वार्डवार सत्र स्थलों का संचालन किया जायेगा। वहीं, ग्रामीण इलाकों में लोगों की चहलकदमी कम होती है, जिसको देखते हुये पंचायतों को टुकड़ों में बांटकर संपूर्ण रूप से लक्षित किया जायेगा। हालांकि, इतने बड़े लक्ष्य को वैक्सीनेट करने के लिये पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन चाहिये होगी। जिसकी मांग जिलाधिकारी व सिविल सर्जन के द्वारा की जा रही है।

रिपोर्टर

संबंधित पोस्ट